गेहूं

प्रकार:  
प्राकृतिक फसलें
गेहूं

इस क्षेत्र में कृषि विकास बहुत अधिक है। यह भूमि काफी उपजाऊ है और किसानों को साल भर तवा बांध से अच्छी नहर की सिंचाई की सुविधा मिलती है। किसान फसलों के रोटेशन का काम करते हैं और उनकी प्रमुख आय गेहूं, सोया बीन, मुंग बीन, गन्ना, ग्राम, धान की खेती आदि पर निर्भर करती है। होशंगाबाद सबसे बड़ा गेहूं उत्पादक है और भारत में सबसे बड़ा सोया बीन उत्पादक जिले में से एक है।