रेशम केंद्र, होशंगाबाद

प्रकार:  
हस्तशिल्प
रेशम

रेशम केंद्र, होशंगाबाद

होशंगाबाद मालाखेड़ी स्थित रेशम केंद्र में तैयार धागे से निर्मित कपड़ों की डिजाइन अब चार माह में बदल दी जाएगी। अब तक बाग, टसर, महाराष्ट्र प्रिंट, बनारसी और परंपरागत बिहार टच प्रिंट की साड़ियां, सलवार सूट समेत रेशम कोसा के परंपरागत प्रिंट वाले कुर्ते ही तैयार हो रहे थे।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की सलाह के बाद परंपरागत प्रिंट की डिजाइन को बदलने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए होशंगाबाद रेशम केंद्र में काम करने वाले कारीगरों को प्रशिक्षण के लिए गुजरात भेजा जाएगा। यहां के कारीगरों के साथ काम करने का भी मौका मिलेगा।